Our social:

Saturday, November 21, 2009

पति पत्नी और वो रियलिटी टीवी शो एनडीटीवी इमेजिन पर पति पत्नी या वो का राज? - An Overview of Pati Patni Aur Woh

Pati Patni Aur Woh
आधुनिक समाज में Reality TV Shows का एक नया ही रूप का अवतरण हुआ है जो टीवी सीरियल से बिल्कुल ही अलग है। Reality TV Shows और टीवी Serials में यही अन्तर है कि Reality Shows को बखूबी सजाया नही जाता है। यह जीवन के आम तरीकों से जुड़ा होता है पर यह भी एक निश्चित मकसद को पूरा करता है। उसी तरह, टीवी सीरियल काल्पनिक कहानियों का श्रृंखला होती है जो प्रत्यक्षतः किसी के जीवन से जूडी नही होती है।

भारत में Reality Shows की प्रसिद्धि Bigg Boss 2 और Indian Idol से मिली। Nach Baliye 4, Little Champs 2009, Saregamapa Mega Challenge और Tere Mere Beach Mein में इसी प्रसिद्धि की अगली श्रृंखला है।

जिस तरह TV Serials ने Kyunki Saas Bhi Kabhi Bahu Thi और Kasauti Zindagi Ki की कहानियों से बुलंदियों को छुआ उसी तरह से राखी का स्वयंवर से Reality Shows को यह बुलंदी हासिल हुई।

आज समाज में Reality Shows की ही मांग है। तभी तो, पति पत्नी और वो ने सफलता का एक नया ही मुकाम हासिल किया है। पिछले बार हमने Introduction of Perfect Bride लिखा था जो Lux Perfect Bride के बारे में था। Lux Perfect Bride भी Star Plus पर सफलता का एक नया ही मुकाम खड़ा किया है जिस तरह से Big Boss 3 COLORS पर और Dance Premier League सोनी टीवी पर।

मैं यहाँ आपको Pati Patni Aur Woh Reality TV Show के बारें में कुछ अवगत करवाना चाहता हूँ। आप सब तो यह जानते ही होंगे कि पति पत्नी और वो एनडीटीवी इमेजिन पर प्रत्येक सोमवार से शुक्रवार रात १०:३० बजे प्रसारित किया जाता है। यह शो शुरू होने के पहले ही सामजिक संकट के घेरे में चुका था। इसे प्रसारित किए जाने से हमारी सरकार द्वारा रोक लगा दिया गया था पर हर मर्ज की इलाज की तरह एनडीटीवी इमेजिन ने पति पत्नी और वो रियलिटी टीवी शो में कुछ फेर-बदल करके इसे चलाने की मंजूरी ले ली।

पति पत्नी और वो में नवजात शिशुओं के लिए जाने के जुर्म में इसपर सवाल उठा था पर एनडीटीवी इमेजिन ने इस रियलिटी शो को चलाने के लिए उन नवजात शिशुओं के माओं को भी उनपर निगरानी रखने की अनुमति दे दी। पति पत्नी और वो का पहला पड़ाव ही समाज के नैतिकता के कटघरे में खड़ा था।

पति पत्नी और वो पाँच पतियों और पत्नियों के जोड़ों पर बना एक रियलिटी टीवी शो है जिसे एनडीटीवी इमेजिन पर प्रसारित किया जाता है। ये पाँच जोड़े कोई मामूली जोड़े नही है, ये भारत के जाने-माने कलाकार है; तभी तो इन्हें Celebrity कहा जाता है। यह शो पाँच परिवारों का रियल परिस्थितियों को दिखता है। पाँच परिवारों में आया "वो" इस शो का मुख्य Character है। ये पंचों परिवारों को २४x कैमरे के सामने रहना पड़ता है। साथ ही परिवार को चलने के लिए नौकरी की भूमिका तथा समाज में रहने के लिए पार्टी, शौपिंग तथा तकरार को भी दिखाया गया है। पत्नी का अनुभव माँ बनने से लेकर बच्चे को पालने तक का एक रियल ड्रामा सबके सामने आया। साथ ही, बाप के रूप में पति, परिवार सँभालने से लेकर घर-गृहस्ती चलने के लिए नौकरी भी किया। यह शो अब अन्तिम पड़ाव पर है।

पति पत्नी और वो शो के पाँच सदस्यों का नाम इस प्रकार है: -

देबिना और गुरमीत

शिल्पा और अपूर्वा

राखी और इलेश

जूही और सचिन

मोनी और गौरव

पति पत्नी और वो शो की शुरुआत पाँचों जोड़ो के गृह प्रवेश से होता है। पाँचों जोड़ो को पाँच अलग-अलग घर दिया गया। यह पाँचों घर गोवा के Aguada Anchorage में है। शरद केलकर इस शो के कर्ता-धर्ता यानि Host है जो पांचो जोड़ो को उनके घर की चाबिया देते है। शरद केलकर छोटे परदे के जाने-माने हस्ती है। आज-कल उन्हें Bairi Piya से काफ़ी ख्याति हाँसिल हुई है।

पति पत्नी और वो के शो में माँ बनने के एहसास को भी एक ड्रामा बना दिया गया, सबके पेट पर १५ किलो का बोझ डाल कर। ड्रामा तो तब हद से गुजर गई जब पतियों ने माँ बनने का एहसास करना शुरू किया। खैर, यह ड्रामा यहीं तक सिमित नही रहा। गोद भराई की रस्म को भी निभाई गई।

यह पति पत्नी और वो शो का प्रथम पड़ाव था। इन रस्मों के बाद सबकों नवजात शिशिओं को पालने का ड्रामा निभाना था। प्रथम पड़ाव के इस कड़ी में बच्चों को उन्हें बखूबी पालना था। ये बच्चे ही पति पत्नी के जीवन में "वो" बनकर आते है। सारे दर्शकों को यह तो पता चल ही गया कि एक आम आदमी के लिए यह कार्य कितना आसान है पर एक Celebrity के लिए कितना मुश्किल।

पति पत्नी और वो शो का दूसरा पड़ाव नए बच्चों के साथ शुरू हुआ जो काफ़ी चंचल और शरारती थे। इन बच्चों को संभालने में पति पत्नी को पसीने तक गए। इन बच्चों का शरारती स्वाभाव कई जोड़ों को पसंद नहीं आयें।

Pati Patni Aur Woh Reality TV Show on NDTV Imagine का तीसरा पड़ाव नौजवान बच्चों से शुरू होता है। यह पड़ाव पति पत्नी के लिए काफी मुश्किल था। इस पड़ाव में कोई किसी से समझौता करने के लिए तैयार नहीं था। पति पत्नी का यह पड़ाव, सबको जीवन के सत्य से वाकिफ करवा दिया।

आज से पति पत्नी और वो एनडीटीवी इमेजिन का एक नया और अन्तिम सफर शुरू हो चुका है। इस सफर में पति और पत्नी को ही "वो" बनना पड़ा है। अब उन्हें अपने बुजुर्गों की सेवा करनी है। पति पत्नी और वो शो के नए बुजुर्गों का नाम इस प्रकार है:

कौसल्या गंगवानी - देबिना और गुरमीत के घर

सुशीला पाठक - शिल्पा और अपूर्वा के घर

जानकी रानी अरोरा - राखी और इलेश के घर

लव देव - जूही और सचिन के घर

विजय लक्ष्मी - मोनी और गौरव के घर

पति पत्नी और वो रियलिटी टीवी शो अपने आप में एक बड़ा और नया शो तो है पर हमारे समाज के लिए अनुकूल नहीं है। तभी तो, माँ और बाप का मुर्तिवान रूप इन पतियों और पत्नियों में अमूर्त ही रहा। माँ और बाप की अनुभूति सिर्फ़ एक दिखावटी लगी। पति पत्नी का प्यार बच्चों के लिए सिमित रहा। इस पति पत्नी और वो के शो में राखी और इलेश ने मिर्च मसाला भी खूब परोसा। बहुतों के लिए तो यह शो राखी का चूमा शो और राखी-इलेश का प्यार का शो बनकर रह गया। पति पत्नी के बीच का अन्तर और प्यार का समझ एक बच्चे के सामने क्या होनी चाहिए, किसी को भी पता था। अंततः पति पत्नी और वो अपनी आखरी पड़ाव पर कुछ खट्टी और कुच्छ मिठ्ठी अनुभवों के साथ विराजमान है। आज पता चल ही गया कि बच्चें पैदा करना इतना आसन नहीं है। अगर बच्चें पैदा हो भी गए तो उन्हें संभालना इतना आसन नहीं है। जाहिर है, इस शो में कभी पति पत्नी का राज रहा तो कभी "वो" का।

0 comments: